कील-मुहांसों के लिए घातक चावल का पानी

ज्यादातर घरो में चावल के बिना खाने की थाली अधूरी ही मानी जाती है। चावल बनाने से पहले कच्चे चावलों को धोया जाता है ताकि चावल पर की गई पोलिशिंग  साफ हो जाये। धोने के बाद चावल के पानी को फेंक देते है लेकिन चावल का पानी और चावल के पकने के बाद निकलने वाला माड़ हमारे लिए बहुत ही लाभदायक है। ये बाल और स्किन दोनो को चमकदार बनाता है।

चावल के पानी में मौजूद पोषक तत्व:

चावल के पानी में प्रोटीन, विटामिन-इ, विटामिन-बी, कार्बोहाइड्रेट, एंटी-ओक्सिडेंट, एंटी-एजिंग, फेरूलिक, एलनटोइन होता है जो त्वचा को स्किन के लिए बेस्ट टोनर का काम करता है ये स्किन को नमी देता है कम उम्र में ही चेहरे पर होने वाली झुर्रियों को खत्म करके स्किन के पोर्स को टाइटेन करता है। चावल के पानी में ओरिजेनॉल होता है जो त्वचा को सूरज से निकलने वाली खतरनाक पराबैंगनी किरणों(ultraviolet rays) से बचाता है।

पिम्पल्स हटाने के घरेलु उपाय:     

मैन ingredients:

कच्चा चावल : 2 कप

कौन-सा चावल करे इस्तेमाल : बाज़ार में दो तरह के चावल होते है जिसे पहला कच्चा चावल और दूसरा पक्का चावल। लेकिन इसका मतलब ये नही की एक कच्चा और दूसरा पक्का हुआ है। ये दोनों ही कच्चे यानि बिना पका हुआ ही होता है।

कच्चा चावल : कच्चा चावल उन चावलों को कहा जाता है जब धान से चावल निकाला जाता है उससे पहले धान को उबाला नहीं जाता है। जिससे इस चावल का रंग ज्यादा दुधिया हो जाता है। इसे पकने में बहुत कम समय लगता है।

पक्का चावल : पक्का चावल उन चावलों को कहा जाता है जब धान से चावल निकाला जाता है उस से पहले धान को उबाल दिया जाता है और उसके सूखने के बाद चावल को धान से अलग किया जाता है। इसे पकने में बहुत वक्त लगता है।

टिप्स : इस रेमेडी के लिए किसी भी चावल का इस्तेमाल कर सकते है लेकिन अगर  कच्चे चावलों को प्रयोग करते है तो ज्यादा फायदेमंद होता है ।

पिम्पल्स हटाने के तरीके:

कैसे बनाये पिम्पल्स के लिए चावल का पानी : चावल का पानी निकालने के लिए सबसे पहले एक बर्तन में एक गिलास पानी में डाल कर 2 कप चावल डाले और 30 मिनट के लिए भीगा कर छोड़ दे पानी का रंग बिलकुल सफ़ेद यानि की दुधिया हो जायगे जिससे पानी में चावल के दाने साफ़ न दिखे तो पानी को छान कर दुसरे बर्तन में डाल दे।

कील-मुहांसों के लिए चावल का माड़ : एक पैन दो गिलास पानी और भिगो कर रखे हुए चावलों को डाल कर पकने के लिए छोड़ दे जब चावल पक जाए तो उसका मांड छान ले और ठंडा होने दे। ठंडा होने पर मांड जमने लगता है

ध्यान रखे : कई बार चावल पकाते वक्त पानी को चावल के अंदर ही सुखा देते है लेकिन चावल के मांड के लिए पानी की मात्रा  ज्यादा रखे जब चावल पक जाए  तो बचे हुए पानी किसी दुसरे बर्तन छान ले मांड को सूखने न दे।

पिम्पल्स पर कैसे करे इस्तेमाल : मांड को हाथो से या कॉटन बॉल से चेहरे पर लगा 10 मिनट तक सर्कुलर फॉर्म में अपने फेस का मसाज़ करे। यही प्रोसेस एक बार फिर से करना है चेहरे पर मांड को फिर लगाये लेकिन इस बार मसाज़ नहीं करना बल्कि 10-15 मिनट तक लगा कर छोड़ दे।

फिर चावल के पानी जिसमे चावल को भिगो कर रखा गया था उस पानी से अपना चेहरा धो ले।

मांड निकालने के बाद पके हुए चावल को खा सकते है।

इस रेमेडी का इस्तेमाल हफ्ते में 3 बार कर सकते है चाहे तो हर दुसरे दिन भी कर सकते है।

चावल का पानी नेचुरल क्लींजिंग का काम करता है इसका इस्तेमाल रातोरात चेहरे पर निखार लाता है, टैनिंग दूर करता है, कील-मुहांसों को जड़ से खत्म करता है, पोषण देता है, चेहरे पर नयी ताजगी लाता है।

[addthis tool="addthis_inline_share_toolbox_l63x"]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *