ग्रीन टी के फायदे

ज्यादातर लोगों की सुबह चाय से शुरू होती है और अगर चाय न मिले तो लोगों को कई तरह की परेशानिया होने लगती है लेकिन चाय का लत किसी नशीली चीज़ की लत से कम नहीं है जो व्यक्ति की हेल्थ पर धीरे-धीरे बुरा असर डालती है।

शरीर को healthy रखने के लिए सबसे बेहतर चाय है – ग्रीन-टी(green tea)     

ग्रीन टी में मौजूद पोषक तत्व:

ग्रीन टी को बनाने के लिए कैमिला साइनेंसिस की पत्तियों को सुखाया जाता है। इस में कैफीन की मात्रा कम होती है। ग्रीन टी में विटामिन-c से 100 गुना ज्यादा  और विटामिन-e से 24 गुना ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट गुण होता है इसके आलावा इसमें हाई फ्लोराइड केमिकल होता है जो हड्डियो को मजबूत बनाता है और कम उम्र में ही जॉइंट्स पैन होने से बचाता है। ग्रीन टी बॉडी, हेयर और स्किन केयर में भी बहुत उपयोगी है।

ग्रीन टी के बेनिफिट्स:

डिप्रेशन को रखे दूर: बिना वजह उदास रहना, भूख न लगना या बहुत ज्यादा भूख लगना, कॉन्फिडेंस की कमी महसूस करना, रोज के काम करने में भी परेशानी होना ये मुख्य लक्षण है किसी व्यक्ति के डिप्रेशन में होने के। ग्रीन टी में पॉलीफेनोल और थैनैनिन नाम का एमिनो एसिड होता है जो ब्रेन में ग्लूकोज की कमी को तेजी से पूरा करके तनाव से दूर रखता है। 

मोटापा करे कम:  ज्यादातर लोग ग्रीन टी का इस्तेमाल केवल वजन कम करने और मोटापा घटाने के लिए करते है। ग्रीन टी में एंटी-ओक्सिडेंट होता है जो बॉडी में मौजूद एक्स्ट्रा चर्बी को तेजी से कम करता है ये रोजाना करीब 70 से 80 केलोरिज़ को बर्न कर देता है और मेटाबोलिज्म को बढ़ाता है। इसका सेवन रोजाना खाना खाने के करीब एक घंटे बाद करे।

ध्यान रखे- ग्रीन टी को केवल पानी के साथ ही पिए दूध या चीनी का इस्तेमाल न करे। इससे इसमें मौजूद पोषक तत्व का प्रभाव कम हो जाता है।

कोलेस्ट्रोल को कण्ट्रोल करे: ग्रीन टी में मौजूद एंटी-ओक्सिडेंट और विटामिन-c दिल की धमनियों में जमे एक्स्ट्रा वसा को तेजी से कम करके गुड कोलेस्ट्रोल को बढ़ाता है और बैड कोलेस्ट्रोल को खत्म करता है। इससे हार्ट में ब्लड का सर्कुलेशन ठीक तरह से होने लगता है जो हार्ट के लिए बहुत ही लाभकारी होता है जिसके कारण हार्ट अटैक होने के चांसेस न के बराबर हो जाते है।

त्वचा के कैंसर से करे बचाव: ग्रीन टी स्किन के कैंसर से भी रक्षा करता है। इसमें मौजूद विटामिन-इ और पोलीफेनोल्स(polyphenols) स्किन कैंसर के लिए जिम्मेदार अल्ट्रा वायलेट रेज(ultra violet rays) के प्रभाव को स्किन पर पड़ने से रोकता है साथ ही वास्कुलर एंडोथेलियल ग्रोथ फैक्टर और हेपेटोसाइट ग्रोथ फैक्टर को बढ़ने नहीं देता जिससे त्वचा का कैंसर नहीं होता। त्वचा को तेजी से हाईड्रेट करने में भी ग्रीन टी बहुत ही इफेक्टिव है।

पेट को बनाए मजबूत: ग्रीन में पोलीफेनोल्स(polyphenols) और फ्लेवेनोइड(flavonoid) होता है जिससे पेट में किसी भी तरह इन्फेक्शन नहीं होता। पाचन शक्ति मजबूत होती है और कब्ज, एसिडिटी और अपच की समस्या नहीं होती। ग्रीन टी में कैटेचिन(catechin) होता है जो उल्टिया और फ़ूड पोइस्निंग (Food poisoning) से बचाता है। इसके रेगुलर सेवन से पुरे दिन तरोताजा महसूस होता है।

ग्रीन टी कैसे पिए: सावधानियां

  • ग्रीन टी को पुरे दिन में केवल 3 कप ही पिए इससे ज्यादा न पिए। इसके अत्यधिक सेवन से भूख लगना बंद हो जाता है।

  • जो महिलाये गर्भवती है या जिनके बच्चे छोटे है वो महिलाये ग्रीन टी का सेवन केवल 1 से 2 कप ही करे। इसमें मौजूद कैफीन और टैनिन शरीर से आयरन को कम करने लगता है जिससे शरीर कमजोर होने लगता है। इससे गर्भवती स्त्री के गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है।

  • ग्रीन कभी भी खाली पेट न पिए इससे एसिडिटी होने लगती है। इसे हमेशा खाना खाने के एक घंटे बाद ही पिए।

  • रात को सोने से पहले कभी भी ग्रीन टी न पिए इससे नींद न आने की समस्या हो जाती है।

  • ग्रीन टी में दूध या चीनी मिलाने की जगह शहद का इस्तेमाल कर सकते है।        

इसे 13 साल की उम्र के बाद कोई भी पी सकता है।

[addthis tool="addthis_inline_share_toolbox_l63x"]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *