desi nuskhe

Desi Nuskhe
Blog

jukam ka desi ilaj | सर्दी जुकाम खांसी का घरेलू उपचार

jukam ka desi ilaj | सर्दी जुकाम खांसी का घरेलू उपचार
  • PublishedNovember 28, 2023

jukam ka desi ilaj (जुखाम के देसी इलाज़)

आज हम इस लेख में आपको बताएँगे की कैसे आप jukam ka desi ilaj (जुखाम के देसी इलाज़) को अपनाकर इस बीमारी से राहत पा सकते हे। सर्दी का मौसम आते ही लाखो लोगो को जुखाम और खांसी जैसे रोग हो जाते हे, और इन बीमारी को दूर करने के लिए हमे आयुर्वेदिक दवाओं की तलाश होती है। आयुर्वेद में इसे वातरोग कहा जाता है, और इसको दूर  करने के लिए कई प्राकृतिक और शास्त्रीय उपाय हैं। 

jukam ka desi ilaj

 

वैसे तो आयुर्वेद में सर्दी में होने वाले जुखाम और खासी के बहुत से प्रभावी और असरदार ओषधि मौजूद हे, लेकिन आज इस लेख में आप कुछ महत्वपूर्ण ओषधि के बारे में कुछ बात जानेंगे जिस से आप घर पर ही आसानी से इन घरेलु उपायों को अपनाकर jukam ka desi ilaj (जुखाम के देसी इलाज़) घर बैठे ही कर सकते हे।

तुलसी (Holy Basil):

तुलसी के पत्ते में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जो आपको सर्दी और जुकाम से लड़ने में मदद कर सकते हैं। इसके लिए आपको छोटी सी तुलसी की पत्ती को दिन में 2 – 3 बार खाना हे, इसके अलावा आप चाहे तो तुलसी के पत्तो की चाय का भी सेवन कर सकते हे।  

गिलोय (Guduchi):

गिलोय आयुर्वेद में एक शक्तिशाली ओषधि हे जो कई रोगो से लड़ने में मदद करता हे, इसके लिए आपको गिलोय के पत्तो को पानी में उबालकर उसका ठंडा कर के पीना हे। अगर आप ऐसा 1 – 2 दिन तक करते हे तो आप सर्दी-जुकाम के लक्षणों को कम कर सकते हे।  

अदरक (Ginger):

अदरक भी एक एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइन्फ्लैमेटरी वाली ओषधि हे जिसमे सर्दी और जुकाम को ठीक करने वाले गुण मौजूद होते हे, आप अदरक को दो प्रकार से प्रयोग कर सकते हे, 1. अदरक की चाय बनाकर तथा, 2. अदरक को गरम पानी में उबालकर उसमे एक चम्मच शहद मिलाकर इसका सेवन, सर्दी जुखाम में फायदेमंद हो सकता हे।   

शंखपुष्पी (Shankhpushpi):

यह एक औषधीय पौधा है जिसका उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सा में मेमोरी और मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं के उपचार के लिए किया जाता है। यह जुकाम के लक्षणों को कम कर सकती है।

यस्तिमधु (Licorice):

यस्तिमधु एक आयुर्वेदिक ओषधि हे, जिसे सुखी खासी और सर्दी के मौसम में उपयोग किया जा सकता हे, इसको प्रयोग करने के लिए इसका काढ़ा बनाये और नियमित रूप से एक दिन में 2 से 3 बार पिए।  

त्रिफला (Triphala): 

त्रिफला एक प्राकृतिक तरीके से शरीर की सफाई करने वाली आयुर्वेदिक ओषधि हे, यह खासी और जुखाम में होने वाली शरीर में जमा होने वाली गन्दगी को साफ़ करता हे, और सर्दी जुकाम को दूर करने में मदद कर सकता है।

jukam ka desi ilaj

संक्षेप:

आयुर्वेदिक दवाओं का नियमित रूप से सेवन करना सर्दी-जुकाम से बचाव में मदद कर सकता है। मुझे उम्मीद हे की ये लेख आपको पसंद आएगा और इसमें jukam ka desi ilaj (जुखाम के देसी इलाज़) बताये गए हे जिनसे आपको अवश्य ही फायदा मिलेगा. लेकिन कृपया ध्यान दें कि इन्हें बिना डॉक्टर की सलाह के शुरू ना करें। अपने चिकित्सक से संपर्क करें और उनकी मार्गदर्शन में इन आयुर्वेदिक उपचारों का उपयोग करें।

Read for More……

Follow For More :- Aayurveda_Gyaan

Written By
desinuskhhh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *